5G Wireless technology क्या है ,पूरी जानकारी हिंदी में

5G Wireless technology

5G Wireless technology क्या है
5G Wireless technology क्या है

अगर आज के ज़माने के युवाओ की बात की जाये तो एक अच्छा फ़ोन या लैपटॉप हो और नेट जिसकी स्पीड काफी तेज़ हो मिल जाये तो उनको जन्नत ही मिल जाती है । इसी तेज़ स्पीड के बारे में ये आर्टिकल है ।

दोस्तो आज के समय में सब काम ऑनलाइन होने लगे है । चाहे विज्ञान के बड़े बड़े आविष्कार हो , चाहे चिकित्सा के क्षेत्र में नए नए दवाइयों की खोज हो, पैसे का बैंक का काम हो या फिर चाहे अपने जैसे लोग घर से शॉपिंग से, मनोरजन, यूट्यूब, इंस्टाग्राम, फेसबुक से लेकर खाने तक ही क्यों न हो और भी खूब सारे काम इंटरनेट की सहायता से होने/करने लगे है और इन सब काम में सब को एक ही चीज़ की जरूरत पड़ती है इंटरनेट की और एक अच्छी इंटरनेट स्पीड की।

इसी के क्रम में समय समय पर इंटरनेट टेक्नोलॉजी में development देखने को मिलता है। और जो सबसे तेज नेट की स्पीड मिलती है वो मिलती है हमें 5G में । लेकिन 5G तक जानने के लिए हम पहले ये जान लेते है कि ये जनरेशन क्या चीज़ है ??

क्या है 1G, 2G, 3G, 4G और 5G:–

   कम्युनिकेशन के लिए तरह तरह के इंप्रूवमेंट को कई जेनरेशन में डिवाइड किया गया, उन्ही जेनरेशन को 1G, 2G, 3G नाम दिया गया है। कम्युनिकेट लिए सबसे पहला जेनरेशन 1G सिस्टम आया जो wireless भी था, जिसमे एनालॉग सिग्नल पर सिर्फ बात होती थी।

फिर 2G लॉन्च किया गया जिसके अंतर्गत डिजिटल वाइस में कम्युनिकेशन होने के साथ साथ sms के द्वारा भी कम्युनिकेट करने की सुविधा हुई।

जब तीसरी जेनरेशन आई तो डिजिटल वाइस, sms के साथ डाटा का भी ऑप्शन आया और 4G के लॉन्च होने पर LTE technology के साथ डाटा स्पीड जहां MBps में थी वहां 1 GBps हो गई वाइस की क्वॉलिटी में improvement हुआ, जिससे कम्युकेशन सिस्टम में ओर भी पारदर्शिता आई।

अब टेक्नोलॉजी इस से भी एक कदम आगे 5G की तरफ जा रहे है -

5G:–

इंटरनेट की generation में 5G 5वीं generation है इसके पहले 1G, 2G, 3G 4G आ चुके है अब तैयारी है 5G की। 5G में इंटरनेट की स्पीड 4G के 20 से 30 गुने तक की है ।

4G में स्पीड 1 GBps है जबकि 5G इंटरनेट जेनरेशन में 20GBps होने वाली है तो आप अनुमान लगा सकते है कि 5G लॉन्च होने के बाद इंटरनेट की क्या स्पीड होने वाली है। वीडियो डाउनलोड करना, डाटा ट्रांसफर करने जैसे काम पल भर में हो जायेंगें। 5G के आने से समय की बचत होगी और कम्युनिकेशन सिस्टम में काफी सुधार होगा।

5G से होने वाले फायदे :–

5G से बहुत सारे फायदे होंगे। सबसे पहला तो समय की बचत क्योंकि आजकल सारे काम ऑनलाइन सिस्टम से ही किए जा रहे है और नेटवर्क स्लो जैसी समस्याओं की वजह से जो देरी होती है वो खत्म होगी, जो काम करने में आज ज्यादा वक्त लगता है वो पल पर में हो जाएगा।

लोगो को ऑनलाइन वेबसाइट्स पर ट्रैफिक जैसी समस्या से निजात मिलेगा। बड़ी से बड़ी फाइल को डाउनलोड और अपलोड करने में को टाइम पीरियड ज्यादा लगता है वो काफी हद तक कम होगा और काम में आसानी होगी। 5G लगाने से टेक्नोलॉजी और बहुत सारे क्षेत्रों में प्रगतिशीलता आएगी।

विज्ञान और टेक्नोलॉजी में ओर खूब सारे आविष्कार होंगे जिससे हमें ओर बेहतर जीवन मिलेगा ।

अंतरिक्ष में ओर ऊँची उड़ान भरने की उम्मीद रहेगी ।

आम आदमी के जीवन में भी काफी सहूलियत आएगी और इंटरनेट में स्पीड तेज होने से खूब सारी नई नई जानकारी प्राप्त करना और उनसे सिखने में आसानी होगी ।

कैसे अलग है 5G बाकी G's से:–

   5G अन्य एनरेशन से काफी अलग है क्योंकि इसमें मिलने वाले फीचर्स बेहद नए और आज की टेक्निकल दुनिया को टक्कर देने में सक्षम है आज के इस बढ़ते पापुलेशन में नेटवर्किंग सिस्टम और उसके उपभोगकर्ता बढ़ रहे है ऐसे में जरूरी था की एक ऐसा कम्युनिकेशन सिस्टम होना चाहिए जिससे लोगो को ट्रैफिक जैसी समस्या का सामना न करना पड़े और 5G के डाटा स्पीड और वाइस फीचर से ये संभव हो सकता है।

जहा 4G डाटा स्पीड 1GBps थी वहां 5G में 20 GBps की स्पीड मिलने वाली है तो आप अंदाजा लगा सकते है कि 5जी अन्य G's से कैसे अलग है।

इसके अलावा ऑडियो कॉल में भी इंटनेट के कारण बात करते समय कुछ जगह पर नेटवर्क कम आने वाली समस्या से भी निजात मिलेगी । 5G में आपको हर जगह अच्छा नेटवर्क मिलेगा जो की अभी तक नहीं मिल पा रहा है

क्यों जरूरी है 5G लगाना:–

बढ़ती पापुलेशन और नेटवर्किंग स्पीड को देखते हुए यह अंदाजा लगाना कठिन नही की आगे एक ऐसे कम्युनिकेशन सिस्टम वाले नेटवर्क की जरूरत है जो कम्युनिकेशन सिस्टम में आने वाली प्रोब्लम को दूर कर सके और 5G से मिलने वाली डाटा स्पीड और वाइस फ्रीक्वेंसी से ये काफी हद तक लोगो के कम्युनिकेट करने की जरूरत को बिना किसी बाधा के पूरा कर सकता है।

भारत एक विकासशील देश है और आज सारे काम ऑनलाइन ही हो रहे अगर अन्य देशों में 5G लॉन्च कर दिया गया और भारत में नही हुआ तो भारत टेक्नोलॉजी के मामले में बहुत पीछे होता चला जाएगा। जिसकी वजह से भारत अन्य देशों के मुकाबले बहुत पीछे होता हुआ चला जाएगा। आज के समय में सब science और technology पर ही डिपेंड करता है। अगर वही सिस्टम कमज़ोर हो तो कैसे प्रगति कर सकते है।

5G काम कैसे करता है:–

   5G भी बाकी जेनरेशन की तरह ही काम करेगा लेकिन इसमें कुछ चेंज है इसके फ्रीक्वेसी के टावर और अन्य सिस्टम को चेंज करना होगा। 5G सिर्फ 5G के रेंज वाले डिवाइसेज में एक्सेस होगा। इसके लिए मार्केट में अभी से ही 5G स्मार्टफोन लॉन्च हो चुके है और लोगो ने इन्हें लेना भी स्टार्ट कर दिया है परंतु आपको बता दे की 5G नेटवर्किंग सिस्टम तब तक एक्सेस नही किया जा सकता जब तक आ न जाए।

आपकी जानकारी के लिए बता देते है कि 5G भारत में अभी लॉन्च नही हुआ है। इसकी टेस्टिंग चल रही है। देश की तीनों कंपनियों जियो एयरटेल और VI ने टेस्टिंग कर ली है बस अब इंतजार है तो 5 जी के लॉन्च होने का। सबसे पहले कंपनियों द्वारा इसकी टेस्टिंग की जायेगी जो पूरी होने के बाद सभी TRAI को इनफॉर्म करेंगे जो इसके नीलामी रेट की जानकारी DoT को देगी फिर जाकर भारत सरकार 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी करेगा और नेटवर्किंग कंपनियां इसे भारत में लॉन्च करेंगी।

5G का डाटा rate क्या होगा:–

            जैसा की मैने आपको पहले ही बताया कि 5G का डाटा रेट 4G की तुलना में कई गुना होने वाला है। 4G के डाटा रेट की बात करे तो अधिकतम 1 GBps था, जबकि 5जी में ये रेट बढ़कर 20GBps हो जाएगा इस बात से ही आप सोच सकते है की इंटरनेट के माध्यम से कम्युनिकेशन सिस्टम कितना सरल और बाधारहित हो जायेगा। 5जी में  कम्युनिकेशन सिस्टम की वाइस की फ्रीक्वेंसी भी बढ़ेगी जिससे लोगो को कम्युनिकेट करने में दिक्कतों का सामना कारण पड़ता था उससे निजात मिलेगी।

5G कौन सी devices को सपोर्ट करेगा:–

            5G जहा तक है सभी एंड्रॉयड और ios devices को सपोर्ट करेगा लेकिन डिवाइस का 5G होना जरूरी है। ये आप जानते ही होंगे जैसे आपके पुराने 3G फोन में 4G का नेटवर्क सपोर्ट नही करता था, वैसे ही 5G में भी है 5G नेटवर्किंग जेनरेशन सभी 5G डिवाइसेज में सपोर्ट करेगा। 5G उन सभी device में access लोग जिसमे 5G launcher होगा। क्योंकि 5G की स्पीड और टेक्नोलॉजी में बदलाव की वजह से इसे 4G फोन या किसी अन्य डिवाइस में एक्सेस करना नामुमकिन है।

Current में क्या खबर है 5G की:–

अभी न्यूज रिपोर्ट की माने तो भारत में जल्द ही 13 शहरों में 5G नेटवर्किंग सिस्टम लॉन्च होने वाला है उसके बाद एक एक करके पूरे भरता में लॉन्च किया जाएगा। इन 13 शहरों में दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, गुरुग्राम, चंडीगढ़, लखनऊ, पुणे, बेंगलुरु, जामनगर, अहमदाबाद, गांधीनगर और हैदराबाद प्रमुख है।

हाल में ही न्यूज पेपर में सुर्खियों में ये खबर भी देखने को मिली की 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी में सिर्फ जियो और एयरटेल  दो कंपनियां ही इन्वेस्ट करेंगी। VI ने अपने दोनो हाथ खड़े कर दिए। जिससे अब सरकार BSNL को भी विलय करने की तैयारी में है। क्योंकि VI के ऐसे इन्वेस्ट करने से मना करने की वजह से भारत सरकार को बहुत घटा आने वाला है। इन सब कारणों की वजह से और भी देरी से 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी होने की संभावना है।

            पिछले दिनों न्यूज सुर्खियों में ये भी जबर मिली थी कि नेटवर्किंग कंपनियों को जो टेस्टिंग के लिए महीने का समय दिया गया था वो नवंबर 2021 में खत्म हो गया लेकिन कंपनियों को फिर से कहने पर 6 महीने मतलब कि मई 2022 तक ओर समय दिया गया है जिसके बाद ही कोई प्रोसेस आगे बढ़ेगा।

किस देश ने किया पहले लॉन्च:–

            सबसे पहले 5G नेटवर्किंग सिस्टम साउथ कोरिया में दिसंबर 2018 में तथा उसके बाद स्विट्जरलैंड, अमेरिका और UK में लॉन्च किया गया। इस समय चीन ने अपने पूरे देश में 5G को लॉन्च करने वाला पहला देश बन चुका है। भारत भी अब इसे लॉन्च करने की तैयारी में है जहा तक आशा है इस साल के आखिरी तक भारत में 5G नेटवर्किंग सिस्टम लॉन्च हो जायेगा।

भारत में 5जी की स्थिति:–

            फिलहाल अभी टेस्टिंग प्रक्रिया जारी है। अभी तक भारत में टेस्टिंग में 4 से 5 GBps की स्पीड देखी जा चुकी है टेस्टिंग जारी है। जैसे ही खत्म होगी TRAI नीलामी की रेट तय करेगा और नीलामी के बाद भारत में टेलीकॉम कंपनियां अपना 5G नेटवर्क लॉन्च करेगी। जहा तक अनुमान लगाया जा रहा है की 4G के मुकाबले इसकी रेट की कीमत बहुत ज्यादा होने वाली है क्योंकि भारतीय टेलीकॉम कंपनियों के ऊपर भारत सरकार का इतना कर्ज है की उसे भरने के लिए इचार्ज अधिक महंगा होना तय है। यही वजह है की 5G की नीलामी और भारत सरकार के कर्ज की वजह से लगातार रिचार्ज महंगे होते जा रहे है।

FAQ about 5G:–

1)  5G पर पहली बार काम कब चालू हुआ?

उत्तर– मई 2013 में।

2)   5G का डाटा रेट कितना होगा।

उत्तर– 20 GBps।

3)   5G को सबसे पहले लॉन्च करने वाला देश कौन सा है?

उत्तर– साउथ कोरिया।

4)   5G को पूरे देश में सबसे पहले लॉन्च करने वाला देश कौन सा है?

उत्तर– चीन।

5)   भारत में 5G को कौन कौन सी नेटवर्किंग कंपनियां मिलकर नीलामी की बोली लगाएंगी ?

उत्तर– Jio और Airtel।

6)   भारत में 5G लॉन्च होने का प्रोसेस कहा तक पहुंचा है?

उत्तर– टेस्टिंग।

            मुझे आशा है की आपको इस पोस्ट में 5G कम्युनिकेशन नेटवर्किंग जेनरेशन के बारे में अच्छे से सब कुछ जानकारी मिल गई होगी अगर कोई जानकारी आती है तो हम आपको अपडेट करते रहेंगे बने रहिए हमारे साथ।

1 टिप्पणियाँ

और नया पुराने