विद्युत पंखा कैसे काम करता है? | How does electric fan work?

pankha kaise chalta hai

विद्युत पंखे (Electric fan) हमारे जीवन का अनिवार्य हिस्सा बन गए हैं। वे गर्मियों व बारिश के मौसम में ठंडक प्रदान करते हैं। क्या आप जानते हो कि विद्युत पंखे (Electric fan) कैसे काम करते हैं?

विद्युत पंखे (Electric fan)
विद्युत पंखे (Electric fan) 

पंखा किस सिद्धांत पर कार्य करता है

विद्युत पंखा (Electric fan) एक ऐसा उपकरण है, जो विद्युतीय ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में बदलता है। यह विद्युतीय प्रवाह के चुंबकीय प्रभाव के सिद्धांत पर काम करता है।

विद्युत पंखा (Electric fan) का मुख्य पुर्जा एक विद्युत मोटर होती है। इसलिए पंखा किस प्रकार कार्य करता है, यह जानने से पहले एक विद्युतीय मोटर की कार्य प्रणाली को जानना अनिवार्य है।

अपने सरलतम रूप में, यह एक कुंडल या कवच से बना होता है, जिसके द्वारा प्रवाह बहता है। यह एक डंडे से जुड़ा होता है। इस कुंडल (Coil) को चुंबक के बीच में रखा जाता है। जब कुंडल से विद्युतीय प्रवाह होता है, तब इसके चंबकीय प्रभाव के कारण यह घूमना शुरू कर देता है। इस मोटर में विभक्त वलय दिक्-परिवर्तक लगे होते हैं, जिस पर दो कार्बन ब्रुश जुड़े होते हैं।

मोटर का कवच धातु के एक शॉफ्ट से जुड़ा होता है। शॉफ्ट के दूसरे सिरे पर, हल्की धातु से बने तीन या चार ब्लेड लगे होते हैं, जो मोटर के साथ घूमने लगते हैं। इन ब्लेडों को इस तरह बनाया जाता है कि जब वे घूमते हैं, तब एक तरफ से हवा अवशोषित कर उसे दूसरी तरफ फेंक देते हैं और इस तरह हवा का प्रवाह तेज हो जाता है। प्रवाह या करंट को नियंत्रित किया जाता है। यह एक रेगुलेटर की सहायता से किया जाता है। इस रेगुलेटर में एक प्रतिरोधक होता है, जो कुंडली से बहने वाली बिजली की मात्रा को नियंत्रित करता है।

पंखे कितने प्रकार के होते हैं ?

सामान्यतः विद्युतीय पंखे दो प्रकार के होते हैं- छत पर लगे पंखे (सीलिंग फैन) व मेज पर रखने वाले पंखे (टेबल फैन)। घरों में प्रयोग होने वाले पंखे आमतौर पर 60 वॉट से 120 वॉट के होते हैं।

तीसरे प्रकार के पंखे प्रदूषित हवा को बाहर निकालने के लिए रसोईघरों, छविगृहों और गोदामों आदि में इस्तेमाल किए जाते हैं। इन्हें एक्जॉस्ट फैन (Exhaust Fan) कहा जाता है। इन पंखों के ब्लेड या परों को इस तरह बनाया जाता है कि वे अंदर से हवा अवशोषित कर उसे बाहर फेंकते हैं। इनका उपयोग एयर कूलर में भी किया जाता है।

पंखे की हवा हमें किस तरह ठंडक प्रदान करती है?

अब प्रश्न यह उठता है कि पंखे की हवा हमें किस तरह ठंडक प्रदान करती है? पंखा हवा के प्रवाह की गति को बढ़ा देता है और यह वाष्प बनने की दर में वृद्धि कर देता है। चूंकि वाष्प बनने से ठंडक होती है, इसलिए एक चलता हुआ पंखा ठंडक की अनुभूति प्रदान करता है।

1 टिप्पणियाँ

  1. होली के पीछे का विज्ञान - The science behind Holi
    https://www.vigyankiduniya.com/2021/12/the-science-behind-Holi.html

    जवाब देंहटाएं
और नया पुराने